ग्रीनसेल मोबिलिटी ने अयोध्‍या में 2 मिलियन से ज्‍यादा भक्‍तों की यात्रा के लिये 150 इलेक्ट्रिक बसें चलाईं

हर महीने टेलपाइप का 600 टन से ज्‍यादा उत्‍सर्जन बचाकर अयोध्‍या को पर्यावरण के अनुकूल एक पर्यटन केन्‍द्र में बदला जाएगा

अयोध्या। ग्रीनसेल मोबिलिटी एक अग्रणी इलेक्ट्रिक यातायात समाधान प्रदाता कंपनी है। कंपनी को यह घोषणा करते हुये गर्व हो रहा है कि डायरेक्‍टर ऑफ अर्बन ट्रांसपोर्ट ने उसे राम मंदिर के महत्‍वपूर्ण प्राण-प्रतिष्‍ठा समारोह के लिये अयोध्‍या में 150 इंट्रा-सिटी इलेक्ट्रिक बसें चलाने के लिये एक भागीदार के तौर पर चुना है। बसों का यह फ्लीट जनवरी के मध्‍य से लेकर फरवरी के अंत तक अयोध्‍या के भीतर लगभग 2 मिलियन भक्‍तों को अंत:शहरी परिवहन सेवा प्रदान करने में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाएगा। इसमें समारोह का दिन और उसके आस-पास के दिन शामिल हैं। यह तीर्थयात्रियों और भक्‍तों के लिये एक महत्‍वपूर्ण समय होगा।
ग्रीनसेल मोबिलिटी एक कंपनी के तौर पर संवहनीय परिवहन में आगे है। इस आयोजन के दौरान सार्वजनिक परिवहन की आवश्‍यकता में लाखों यात्रियों को अपनी बसें प्रदान करने पर कंपनी सम्‍मानित महसूस कर रही है। आयोजन में मार्च 2024 तक शहर में 2.5 करोड़ से ज्‍यादा भक्‍तों के आने की उम्‍मीद है। इस प्रकार अयोध्‍या एक इको-फ्रैंडली टूरिस्‍ट हब बनेगा! इन 150 इलेक्ट्रिक बसों का इस्‍तेमाल पर्यावरण के अनुकूल समाधानों के लिये प्रतिबद्धता दिखाता है। इस प्रकार हर महीने टेलपाइप से होने वाले लगभग 600 टन उत्‍सर्जन से बचकर कार्बन फुटप्रिंट को बेहद कम किया जा सकेगा। 14 जनवरी, 2024 को उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री श्री योगी आदित्‍यनाथ जी ने इन बसों को अयोध्‍या में हरी झंडी दिखाई।

ग्रीनसेल मोबिलिटी के सीईओ एवं एमडी देवेन्‍द्र चावला ने कहा, ‘’अयोध्‍या को इको-फ्रैंडली पर्यटन केन्‍द्र बनाने में अपनी भागीदारी से हम विनम्र एवं रोमांचित हैं, क्‍योंकि वहाँ हमारी बसें चलेंगी। परिवहन के संवहनीय समाधानों को बढ़ावा देना हमेशा से हमारा मिशन रहा है। और इस भव्‍य आयोजन में इलेक्ट्रिक बसों के इस्‍तेमाल को लेकर सरकार का फैसला बिलकुल हमारे दृष्टिकोण के अनुसार है। यह सिर्फ यात्री पर्यटन के लिये नहीं है, बल्कि ज्‍यादा शुद्ध और हरित भविष्‍य की दिशा में मिलकर बढ़ने का हिस्‍सा है।‘’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button